Monday, January 18, 2010

Resignation अर्थात पेपर डालना

'पेपर डालने ' से हमारा पहला सामना तब हुआ था जब किसीने हमसे यह कहा था की फलाने फलाने ने पेपर डाल दिए। तब हमारा जवाब यह था की पेपर डालने में क्या बड़ी बात है। हमारे मोहल्ले का पेपर वाला तो कई सालों से रोज़ पेपर डाल रहा है है और वोह भी बिना नागा किये। तब हमें यह बताया गया था की ' पेपर डालना' एक पड़ाव है जो हर नौकरी बदलने वाला पार करता है। साथ ही यह भी हमें ज्ञात हुआ की 'पेपर डालना' सफलता का एक ऐसा आयाम है जो एक पूरी तरह भुला दिए गए व्यक्तित्व को रातो रात limelight में ला सकता है।

पिछले ३ महीनो में हमारे डिपार्टमेंट में १५-१६ कार्यकर्ताओं ने पेपर डाल दिए। इसी बहाने हमें इन दूसरे प्रकार के 'पेपर डालने' वालों को पास से देखने का सौभाग्य मिला। पेपर डालते ही पपेर डालने वाले के चहरे पर एक चमक आ जाती है जो चीख चीख कर यह कहती है " मैं विजयी हुआ। अब मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता, यहाँ तक की मैं स्वयं भी नहीं "।इस व्यक्ति के आस पास रहने वाले भी अचानक बदल जाते हैं। जिस 'ऑफिस लेट आने' को सभी एक ताकत समझते थे, अब उसे पेपर डाल देने का फल बताने लगते हैं। वे सभी जो पेपर नहीं डाल पाए, भाग्यवादी हो जाते हैं। क्योंकी सभी को लगने लगता है अगर इस पेपर डालने वाले मक्कार गधे के ऐसे दिन फिर सकते हैं तो भाग्य ही जोर मार रहा है। वे सभी जिन्होने इस पेपर डालने वाले की और एक घडी भी मुड़कर नहीं देखा था वे भी " और लास्ट डे कब है" पूछने वालों की कतार में लग जाते हैं, यह सोचकर की शायद यह अंत समय की होशियारी उन्हें पेपर डालने वाले की Good Books में डाल दे। पेपर डालने वाले को मोक्ष पा गया समझ लिया जाता है और बिचारा जहाँ कहीं भी अपने विचार व्यक्त करने का मन बनता है वहीँ उसकी बात काटकर कह दिया जाता है की " अब तुम्हें क्या करना है यार , तुमने तो पेपर डाल दिए हैं "। और एक और बात जनाब, किसी और का पेपर डाल देना कई बार लोगों के आत्म विश्वास को इतना आघात पहुचाता है की वे जो आमतौर पर पेपर डालने वाले का चेहरा भी नहीं देखना चाहते थे, अब घुमा फिर कर उसका CV मांगने लगते हैं। "यार मुझे लगता है तुने फलानी चीज़ के बारे में ज्यादा लिखा होगा , और धिकानी चीज़ के बारे में कम। उम्म्म...ठीक है ....CV दे दियो भाई...देख लूँगा। " ऐसे भी कई महाशय होते हैं जो दूसरे डिपार्टमेंट के होते हैं परन्तु सभी पेपर डालने वालों से madhur सम्बन्ध बनाना चाहते हैं। वे जहाँ भी टकराते हैं, पेपर डालने वालों से यही कहते पाए जाते हैं " अरे भाई पेपर डाल दिए और batayaa भी नहीं , यार लास्ट दिन मिल लेना , आपको CV दे दूंगा अपना....हाहाहा...मज़ाक कर रहा हूँ यार..don't worry"।

चलिए जो भी है, हमें तो इतना ही समझ आता है की पेपर डालना एक ऐसी विधा है जो एक गुमनाम व्यक्ति को रातो रात लोकप्रियता के चरम तक पहुंचा सकती है, पहचान दिला सकती है, और हाँ, ज्यादा पैसा और ऊंचा ओहदा भी साथ ला सकती है। तो आईये हम सभी, लगातार , बिना रुके पेपर डालें और सतत पेपर डालते हुए अमरत्व को प्राप्त हो जायें ।

1 comment: